INNPI

सच के पीछे का सच

नही गठजोड़ जो होगा, तुम्हें मैं देख लूंगा जी

1 min read
नही गठजोड़ जो होगा, तुम्हें मैं देख लूंगा जी,
तुम भ्र्ष्टाचारी, लुटेरे हो, फिर से ये कहूँगा जी।
##
तुम्ही से लड़के तो मैंने, सत्ता का स्वाद पाया है,
तुम्ही ना साथ दोगे तो, तुम्हे जेलों भरूँगा जी।
##
अन्ना के काँधे चढ़कर के, अन्ना को मिटा डाला
वेवफा हूँ महाठग में, वफ़ा कैसे करूँगा जी।
##
सत्ता के शिखर पर काबिज, मगर हठधर्मी है मेरी,
ना कुछ करने ही दूंगा, ना खुद भी मैं करूँगा जी।
##
विश्वास जनता का टूटे, मुझे क्या फर्क पड़ना है,
जनता को फिर बनाने को , फिर धरना धरूँगा जी।
##
#अरविंदकेजरीवाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *