भारतीय वायुसेना ने देर रात पाकिस्तान बॉर्डर के पास की एक्सरसाइज

नई दिल्ली, एएनआई। भारतीय वायुसेना ने गुरुवार देर रात जम्मू-कश्मीर और पंजाब के आसमान में जबदरस्त एक्सरसाइज करके अपनी

तैयारियों का जायजा लिया। Pulwama Terror Attack के बाद पाकिस्तान के साथ बढ़े तनाव और 26 फरवरी को पाकिस्तान में भारत की Surgical Strike2 यानि वायु सेना के Air Strike के बाद देश में अजब सा माहौल है। वायु सेना के कई फाइटर जेट ने इस एक्सरसाइज में भाग लिया।

बता दें कि इससे पहले देर रात पाकिस्तान से सटे पंजाब के शहर अमृतसर में धमाकों की आवाज सुनाई दी थी, जिसके बाद स्थानीय लोग दहशत में आ गए। देर रात करीब सवा एक बजे हुए जोरदार धमाकों से शहर के लोग सहम गए। उस वक्त धमाकों के बारे में पता नहीं चल पाया है। हालांकि, तब भी माना जा रहा था कि हो सकता है कोई विमान करीब से गुजरा हो, उसकी यह आवाज हो सकती है।

इस अभ्यास के दौरान भारतीय वायुसेना के जेट विमानों ने अमृतसर सहित सीमावर्ती जिलों में सुपरसोनिक गति से उड़ान भरी और अपनी तैयारियों का जायजा लिया। इस दौरान फ्रंटलाइन फाइटर प्लेन भी शामिल थे। यह अभ्यास पाकिस्तान वायु सेना (PAF) की ओर से किए जाने वाले किसी भी दुस्साहस को विफल करने के लिए किया गया।

26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रोविंस के बालाकोट में जैश-ए-मुहम्मद के आतंकी कैंप को निशाना बनाकर Air Strike की थी। उसी के बाद से भारतीय सेनाएं हाई अलर्ट पर हैं।

कुछ ही दिन दिन पहले पाकिस्तानी वायुसेना के दो विमान सुपरसोनिक स्पीड से जम्मू-कश्मीर के पुंछ में में लाइन ऑफ कंट्रोल के पास उड़ान भरते हुए देखे गए थे। अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर और एलओसी के पास पाकिस्तानी वायुसेना की हलचल बढ़ने के साथ ही भारतीय वायु सेना भी अलर्ट पर है। भारतीय वायुसेना पाकिस्तान की तरफ से होने वाली किसी भी तरह की हरकत पर नजदीक से नजर बनाए हुए है।

याद हो कि 27 फरवरी को भारतीय फाइटर जेट पायलट अभिनंदन वर्तमान ने अपने Mig-21 में उड़ान भरते हुए पाकिस्तान के अत्याधुनिक विमान F16 को मार गिराया था। हालांकि, इस दौरान उनका मिग-21 विमान भी दुर्घटनाग्रस्त हो गया था और वह विमान से इजेक्ट होकर गुलाम कश्मीर में जा गिरे थे। इसके बाद करीब तीन दिन पर पाकिस्तान की कस्टडी में रहकर वह वापस लौटे थे

साभार जागरण हिंदी

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *